टाटा टेली को खरीद रही है एयरटेल, 4 करोड़ नए उपभोक्ता

टाटा टेलीकॉम का अधिग्रहण करने जा रही है. दोनों कंपनियां टाटा टेलीसर्विसेज लि. (टीटीएसएल) और टाटा टेलीसर्विसेज महाराष्ट्र लि. (टीटीएमएस) के कारोबार को भारती एयरटेल में शामिल करने...

49 0
49 0

टाटा टेलीकॉम का अधिग्रहण करने जा रही है. दोनों कंपनियां टाटा टेलीसर्विसेज लि. (टीटीएसएल) और टाटा टेलीसर्विसेज महाराष्ट्र लि. (टीटीएमएस) के कारोबार को भारती एयरटेल में शामिल करने पर सहमत हो गई हैं. यह अधिग्रहण नियामकीय मंजूरियों के अधीन है. हालांकि बयान में कितनी रकम में यह अधिग्रहण की जा रही है, इसकी जानकारी नहीं दी गई है. इस मर्जर के बाद एयरटेल 19 सर्किल में टाटा का कारोबार खरीदेगी। बता दें कि टाटा टेली के 4 करोड़ ग्राहक हैं।

टाटा टेली की 20 फीसदी देनदारी एयरटेल के पास आएगी, जबकि टाटा टेली के पास 80 फीसदी देनदारी रहेगी। इस डील से एयरटेल को पूरे देश में 19 सर्किल का स्पेक्ट्रम हासिल होगा। साथ ही ज्यादा रेवेन्यू और मार्केट शेयर भी मिलेगा। वहीं टाटा टेली के लिहाज से उसे कंपनी बंद करना महंगा पड़ता और इस डील से अब उसके कर्मचारियों की नौकरी भी नहीं जाएगी।

संयुक्त वक्तव्य में कहा गया है कि यह एकीकरण कर्ज मुक्त नकद-मुक्त आधार पर किया जाएगा, हालांकि भारती एयरटेल टाटा द्वारा दूरसंचार विभाग को स्पेक्ट्रम के लिए किए जाने वाले भुगतान की जिम्मेदारी ली जाएगी, जिसका स्थगित आधार पर भुगतान किया जाना है. समझौते के मुताबिक भारती एयरटेल टाटा के टीटीएसएल और टीटीएमएल के देश भर के 19 सर्किलों में (17 टीटीएसएल के तहत और दो टीटीएमएल के तहत) उपभोक्ता मोबाइल कारोबार (सीएमबी) का अधिग्रहण कर लेगी.

इस डील पर टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने काफी खुशी जताई है। उन्होंने कहा है कि डील से कंपनी और शेयरधारकों को काफी फायदा होगा। उन्होंने ये भी कहा है कि ग्राहकों और कर्मचारियों के हितों की रक्षा उनकी प्राथमिकता रही है। वहीं एयरटेल के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल ने भी इस डील को ग्राहकों और कंपनी के लिए फायदेमंद बताया है। उन्होंने कहा कि ग्राहकों को वर्ल्ड क्लास सर्विस सही दाम में मिलेगी। टाटा के ग्राहकों को भी तेज और बढ़िया नेटवर्क का फायदा होगा।

 

In this article