RTI से खुलासा- पीएम के ऐलान से कुछ ही घंटों पहले RBI ने की थी नोटबंदी की सिफारिश

कालेधन पर नकेल कसने के लिए 500 और 1000 रुपये के नोट का चलन 8 नवंबर के बाद से बंद करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चौंकाने वाले ऐलान...

By
252 0

فوركس مواقع कालेधन पर नकेल कसने के लिए 500 और 1000 रुपये के नोट का चलन 8 नवंबर के बाद से बंद करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चौंकाने वाले ऐलान से कुछ ही घंटों पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने इसकी सिफारिश की थी. दरअसल रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ऐक्ट- 1934 में केंद्र सरकार को किसी भी बैंक नोट का चलन बंद करने की शक्ति दी गई. हालांकि सरकार यह फैसला खुद नहीं, बल्कि आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड की सिफारिश पर ही कर सकती है.

http://gl5.org/?prikolno=%D8%B3%D8%B9%D8%B1-%D8%AC%D8%B1%D8%A7%D9%85-%D8%A7%D9%84%D8%B0%D9%87%D8%A8-%D8%A7%D9%84%D9%8A%D9%88%D9%85&e38=5b

http://www.livingwithdragons.com/?printers=%D8%A5%D8%B9%D8%AF%D8%A7%D8%AF-%D8%A7%D9%84%D9%85%D8%AE%D8%B7%D8%B7-%D8%AE%D9%8A%D8%A7%D8%B1-%D8%AB%D9%86%D8%A7%D8%A6%D9%8A&9b5=29 हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, सूचना के अधिकार के तहत उसके सवालों के जवाब में आरबीआई ने बताया कि केंद्रीय बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने 8 नवंबर को हुई बैठक में नोटबंदी की सिफारिश पारित की थी. इस बैठक में 10 बोर्ड मेंबर्स में से केवल आठ ही शरीक हुए थे, जिनमें आरबीआई प्रमुख उर्जित पटेल, कंपनी मामलों के सचिव शक्तिकांत दास, आरबीआई के डिप्टी गवर्नर आर गांधी और एसएस मुंद्रा शामिल थे.

الجيش سلام ثنائي الخيار الفوركس

فيه منصه سعوديه لتجارة العملات والذهب والنفط यहां आरबीआई बोर्ड की बैठक और प्रधानमंत्री के नोटबंदी के बीच सरकार के पास बैंक के आधिकारिक प्रस्ताव पर अमल के लिए कुछ ही घंटों का वक्त था. इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कैबिनेट की बैठक में इस फैसले के बारे में उन्हें बताया.

كيف وسطاء الخيارات الثنائية كسب المال
In this article