रोहिंग्या शरणार्थी मुद्दे पर आज सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

देश में राजनीतिक बहस का मुद्दा बने रोहिंग्या मुसलमानों पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है. सुप्रीम कोर्ट में रोहिंग्या मुसलमानों ने याचिका दायर की है जिसमें उन्होंने...

66 0

get link देश में राजनीतिक बहस का मुद्दा बने रोहिंग्या मुसलमानों पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है. सुप्रीम कोर्ट में रोहिंग्या मुसलमानों ने याचिका दायर की है जिसमें उन्होंने केंद्र सरकार के उस फैसले को चुनौती दी है जिसमें उन्हें भारत से वापस भेजने को कहा गया है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश जस्टिय दीपक मिश्रा सहित तीन जजों की बेंच इस याचिका पर सुनवाई करेगी. इस बेंच में जस्टिस जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ भी शामिल हैं. आपको बता दें कि केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है कि यह मामला कार्यपालिका का है और सर्वोच्च न्यायालय इसमें हस्तक्षेप न करे. लेकिन सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा है कि वह इस मामले में विभिन्न पहलुओं पर सुनवाई करेगी.

إشتري وبيع الذهب

enter site सरकार ने अपने हलफनामे में रोहिंग्या शरणार्थियों को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए कहा है कि ये भारत में नहीं रह सकते। सरकार ने कहा है कि उसे खुफिया जानकारी मिली है कि कुछ रोहिंग्या आतंकी संगठनों के प्रभाव में हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में दलीलें भावनात्मक पहलुओं पर नहीं, बल्कि कानूनी बिंदुओं पर आधारित होनी चाहिए।

http://skylarkstudios.co.uk/?pomulyyko=%D8%AD%D8%B1%D8%A7%D9%85-%D8%AA%D8%AF%D8%A7%D9%88%D9%84-%D8%A7%D9%84%D8%AE%D9%8A%D8%A7%D8%B1%D8%A7%D8%AA-%D8%A7%D9%84%D8%AB%D9%86%D8%A7%D8%A6%D9%8A%D8%A9&b5b=49

tänker på jobbet hemma इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने दोनों पक्षों से कहा है कि वह अपनी अर्जी में तमाम दस्तावेजों को लगाएं और साथ ही अंतरराष्ट्रीय संधियां भी इसमें समग्र तरीके से पेश करें. कोर्ट ने कहा कि वह कानून के आलोक में इस मामले की मानवीय पहलू और मानवता के आधार पर सुनवाई करेगा.

أفضل إشارات الخيارات الثنائية مجانا

http://aitram.pt/?rybish=%D8%AA%D8%AC%D8%B1%D8%A8%D8%AA%D9%8A-%D9%85%D8%B9-%D8%A7%D9%84%D9%81%D9%88%D8%B1%D9%83%D8%B3&4c0=4b बेंच ने दोनों पक्षों से कहा है कि वह अपनी अर्जी में तमाम दस्तावेजों को लगाएं और साथ ही अंतरराष्ट्रीय संधियां भी इसमें समग्र तरीके से पेश करें। कोर्ट ने कहा कि वह कानून के आलोक में इस मामले की मानवीय पहलू और मानवता के आधार पर सुनवाई करेगा। केंद्र ने कहा है कि देशभर में 40 हजार से अधिक रोहिंग्या शरणार्थी मौजूद हैं। म्यांमार में हिंसा भड़कने के बाद रोहिंग्या वहां से पलायन कर रहे हैं। अबतक करीब 9 लाख रोहिंग्या म्यांमार छोड़ चुके हैं।

الفروق المنخفضة لوسيط الفوركس
In this article