रिलायंस इंडस्ट्रीज को दूसरी तिमाही में 11 फीसदी घटा, जियो को हुआ 271 करोड़ का घाटा

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने शुक्रवार को इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के रिजल्ट की घोषणा की. दूसरी तिमाही में RIL का मुनाफा 11 फीसदी घटकर 8097 करोड़...

82 0
82 0

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने शुक्रवार को इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के रिजल्ट की घोषणा की. दूसरी तिमाही में RIL का मुनाफा 11 फीसदी घटकर 8097 करोड़ रुपये रहा. वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 9108 करोड़ रुपये रहा था। बता दें कि अप्रैल-जून तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज को 1100 करोड़ रुपये का एकमुश्त मुनाफा हुआ था।

ऑपरेशनल परफॉर्मेंस के मामले में रिलायंस इंडस्ट्रीज का प्रदर्शन बेहतर रहा. दूसरी तिमाही में कंपनी ने 15,565 करोड़ रुपये का EBITDA हासिल किया. इसमें 16.2 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है. EBITDA ब्याज, टैक्स, मूल्यह्रास और परिशोधन को मिलाकर बनता है.  EBITDA कंपनी के ऑपरेटिंग परफॉर्मेंस को नापने का मानक होता है.

वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन 12 डॉलर प्रति बैरल रहा है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की रिफाइनिंग कारोबार से होने वाली आय 4.2 फीसदी बढ़कर 69766 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज रिफाइनिंग कारोबार से होने वाली आय  66945 करोड़ रुपये रही थी। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का रिफाइनिंग एबिट 11.4 फीसदी घटकर 6621 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का रिफाइनिंग एबिट 7476 करोड़ रुपये रहा था।

आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने एक बयान जारी कर बताया कि एक और क्वार्टर में बेहतर रिलायंस जियो ने बेहतर प्रदर्शन किया है. इसका असर पूरी कंपनी के लिए बेहतर साबित हुआ. उन्होंने आगे कहा कि रिलायंस जियो का एक ओर सफल क्वार्टर ये दिखाता है कि जियो का बिजनेस मॉडल काफी सफल है.

In this article