जिस आधार पर राहुल ने मोदी पर लगाएआरोप, भरोसेमंद नहीं हैं वे

बुधवार को गुजरात के मेहसाणा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाए करप्शन के सनसनीखेज आरोप में नयापन नहीं है। जानकारी के मुताबिक़ उन्होंने...

اسهم التجاره العنكبوتيه बुधवार को गुजरात के मेहसाणा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाए करप्शन के सनसनीखेज आरोप में नयापन नहीं है। जानकारी के मुताबिक़ उन्होंने जिन डाक्यूमेंट्स के आधार पर आरोप लगाए हैं सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें भरोसेमंद मानने से इनकार किया है। बता दें कि ये आंकड़े सुप्रीम कोर्ट में दायर उस पीआईएल का हिस्सा हैं, जिसे सहारा और बिड़ला केस में वकील प्रशांत भूषण ने दाखिल किया है। इस मामले पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक़ कोई भी करप्ट आदमी मोदी के नाम पर इस तरह एंट्री दर्ज कर सकता है।

http://www.tyromar.at/?yuwlja=%D8%A7%D9%84%D9%87%D9%8A%D8%A6%D8%A9-%D8%A7%D9%84%D8%B4%D8%B1%D8%B9%D9%8A%D8%A9-%D9%84%D9%84%D8%A8%D9%86%D9%83-%D8%A7%D9%84%D8%A7%D9%87%D9%84%D9%8A-%D8%AA%D8%AC%D8%A7%D8%B1%D9%87-%D8%A7%D9%84%D8%A7%D8%B3%D9%87%D9%85&380=47

see url उसे भरोसेमंद नहीं माना जा सकता। सहारा-बिड़ला मामले में प्रशांत से कोर्ट ने मांगे हैं पुख्ता सबूत बता दें कि सहारा-बिड़ला मामले में प्रशांत भूषण ने जो साक्ष्य सुप्रीम कोर्ट में रखे हैं, कोर्ट ने उसे मानने से इनकार किया है और उनसे पुख्ता सबूत लाने को कहा है। बगैर पुख्ता सबूत वह इस मामले पर सुनवाई के लिए राजी नहीं है। 11 जनवरी को इस मामले की अगली सुनवाई तय है। इन्हीं आंकड़ों पर केजरीवाल भी लगा चुके हैं आरोप इसी याचिका के एक हिस्से के आधार पर अरविंद केजरीवाल भी सवाल उठा चुके हैं और जिस दूसरे हिस्से को लेकर राहुल ने आरोप लगाया है, वह भी पहले सामने आ चुका है। वकील प्रशांत भूषण भी सुनवाई के दौरान कोर्ट में इस पर विस्तार से चर्चा कर चुके हैं।

تقلب الخيارات الثنائية
In this article