NSG के ड्राफ्ट प्रपोजल से भारत को मेंबरशिप मिलने में आसानी, पाक रह सकता है बाहर

न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप (NSG) में नए देशों की सदस्यता को लेकर एक नया ड्राफ्ट तैयार किया गया है। इस ड्राफ्ट में दिलचस्प बात ये है कि इस ड्राफ्ट...

By
231 0

jobba hemma montering न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप (NSG) में नए देशों की सदस्यता को लेकर एक नया ड्राफ्ट तैयार किया गया है। इस ड्राफ्ट में दिलचस्प बात ये है कि इस ड्राफ्ट में भारत को एनएसजी में शामिल करने की बात कही गई है वहीं पड़ोसी देश पाकिस्तान को इससे बाहर रखने की भी सिफारिश की गई है। माना जा रहा है कि अगले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का कार्यकाल खत्म होने से पहले ही यह काम हो सकता है। ओबामा जाने से पहले पीएम मोदी से किया हुआ अपना वादा पूरा करना चाहते हैं।

http://craigpauldesign.co.uk/?izi=%D8%A7%D9%84%D8%A7%D8%B3%D8%AA%D8%AB%D9%85%D8%A7%D8%B1-%D8%A8%D8%A7%D9%84%D8%B0%D9%87%D8%A8&30e=78

http://aitram.pt/?rybish=%D9%83%D9%8A%D9%81-%D8%A7%D8%AA%D8%AF%D8%A7%D9%88%D9%84-%D8%A7%D9%84%D8%A7%D8%B3%D9%87%D9%85-%D9%81%D9%8A-%D8%A7%D9%84%D8%B1%D8%A7%D8%AC%D8%AD%D9%8A&e3f=a9 एसीए के मुताबिक, पिछले हफ्ते अमरीकी मीडिया की रिपोर्ट में कहा गया था कि एनएसजी के पूर्व चेयरमैन राफेल मेरियानो ग्रासी ने दो पन्नों का एक मसौदा तैयार किया है। ग्रासी ने यह दस्तावेज एनएसजी के वर्तमान अध्यक्ष दक्षिण कोरिया के सांग यंग वान की सलाह पर तैयार किया है अत: इसे अर्ध आधिकारिक स्तर प्राप्त है। ग्रासी के प्रस्ताव में कहा गया है कि एनएसजी समूह में शामिल होने के लिए आवेदन करने वाले गैर परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) वाले देश एक दूसरे की सदस्यता को लेकर आपत्ति नहीं उठा सकते।

http://sejrup-it.dk/?centosar=%D8%AA%D8%AF%D8%A7%D9%88%D9%84-%D8%A8%D9%86%D9%83-%D8%A7%D9%84%D8%A7%D9%86%D9%85%D8%A7%D8%A1&cec=09

اسعارالذهب في الكويت  

اسهم البنك بلاد شراء
In this article