नोटबंदी के पचास दिन: जनता अब भी बेहाल

एक व्यक्ति ने बताया कि सिंडिकेट बैंक में 24 हजार रुपये की जगह 10 हजार लेने का दबाव बनाया जाता है. उन्होंने कहा, ‘सरकार को नोटबंदी के बाद...

177 0
177 0

एक व्यक्ति ने बताया कि सिंडिकेट बैंक में 24 हजार रुपये की जगह 10 हजार लेने का दबाव बनाया जाता है. उन्होंने कहा, ‘सरकार को नोटबंदी के बाद बैंक में पर्याप्त स्टॉक रखना चाहिए. हमें लगता है कि नोटबंदी के बाद भी हमें कैश नहीं मिलेगा. अभी तक सैलरी नहीं निकाल पर पा रहे हैं.’  एक व्यक्ति ने कहा, ‘हम अपना ऑफिस छोड़कर बैंक आए हैं. उम्मीद है मोदी सरकार कैश की लिमिट कुछ बढ़ा दे. एटीएम से कैश निकालने की लिमिट 5 हजार तक होनी चाहिए.’

In this article