मोदी का ASEAN कार्ड, गणतंत्र दिवस परेड में 10 देशों के प्रमुख होंगे अतिथि

सभी आसियान राष्ट्रों के प्रमुखों को पीएम नरेंद्र मोदी ने गणतंत्र दिवस पर आमंत्रित किया और सभी ने ये न्यौता स्वीकर कर लिया है. गणतंत्र दिवस पर आसियान...

60 0

http://www.greensteve.com/?armjanin=%D8%A7%D8%B3%D8%AA%D8%B1%D8%A7%D8%AA%D9%8A%D8%AC%D9%8A%D8%A9-%D8%AD%D9%82%D9%8A%D9%82%D9%8A%D8%A9-%D8%A7%D9%84%D8%AE%D9%8A%D8%A7%D8%B1%D8%A7%D8%AA-%D8%A7%D9%84%D8%AB%D9%86%D8%A7%D8%A6%D9%8A%D8%A9&3b5=b0 सभी आसियान राष्ट्रों के प्रमुखों को पीएम नरेंद्र मोदी ने गणतंत्र दिवस पर आमंत्रित किया और सभी ने ये न्यौता स्वीकर कर लिया है. गणतंत्र दिवस पर आसियान देशों के प्रमुख अतिथि होंगे. पीएम मोदी ने कहा, ‘‘हम अपने साझा मूल्यों और साझी नियति को लेकर भारत आसियान संबंधों की 25वीं वर्षगांठ संयुक्त रूप से मना रहे हैं. इस मौके पर कई गतिविधियों का आयोज किया जाएगा…मैं 25 जनवरी 2018 को भारत-आसियान सृमिति शिखर सम्मेलन में आपके स्वागत को लेकर उत्सुक हूं.’’ पीएम मोदी ने कहा कि 125 करोड़ भारतीय 2018 के गणतंत्र दिवस में आसियान नेताओं के स्वागत की प्रतीक्षा कर रहे हैं.

follow site

go to link आसियान-भारत सम्मेलन में अपने संबोधन में मोदी ने कहा कि वह स्मारक वर्ष के समापन और अगले वर्ष 25 जनवरी को नई दिल्ली में आयोजित होने वाले भारत-आसियान विशेष स्मारक शिखर सम्मेलन में आपकी अगवानी करने की बाट जोह रहा हूं. उन्होंने कहा कि भारत की एक अरब 25 करोड़ जनता भारत के 69वें गणतंत्र दिवस समारोह में आसियान नेताओं का मुख्य अतिथियों के रूप स्वागत करने की इच्छुक है.

http://theshopsonelpaseo.com/?syzen=forix&3f7=a7 forix

here विदेश मंत्रालय में सचिव (पूर्व) प्रीति सरन ने कहा कि आसियान नेताओं ने ‘शालीनतापूर्वक’ प्रधानमंत्री मोदी के दो कार्यक्रमों में शामिल होने के आमंत्रण को स्वीकार कर लिया है. उन्होंने कहा कि 11 और 12 दिसम्बर को भारत-आसियान कनेक्टिविटी समिट और अगले वर्ष जनवरी में एक व्यापार सम्मेलन समेत स्मारक सम्मेलन में कई कार्यक्रमों की योजना है.

jobba hemifrån skåne

source आसियान के साथ व्यापार संबंधों को मजबूत बनाने का समर्थन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘भारत और आसियान देशों के बीच समुद्री संपर्क हजारों सालों पहले स्थापित हुआ. इससे हमारा पूर्व में व्यापार संबंध रहा. हमें इसे और मजबूत बनाने के लिए साथ मिलकर काम करना है.’’ दस दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का संगठन आसियान क्षेत्र में एक प्रभावशाली समूह माना जाता है. भारत के अलावा अमेरिका, चीन, जापान और आस्ट्रेलिया जैसे कई देश वार्ता भागीदार हैं.

click
In this article