Latest Update : यूपी की सत्ताधारी समाजवादी पार्टी में सियासी घमासान लगातार जारी है

नवंबर की शुरुआत में सिल्वर जुबली मनाने वाली समाजवादी पार्टी दिसंबर का अंत होते-होते टूट गई. टिकट बंटवारे को लेकर टकराव इतना बढ़ा कि पांच साल पहले अपनी...

225 0
225 0

नवंबर की शुरुआत में सिल्वर जुबली मनाने वाली समाजवादी पार्टी दिसंबर का अंत होते-होते टूट गई. टिकट बंटवारे को लेकर टकराव इतना बढ़ा कि पांच साल पहले अपनी विरासत बेटे को सौंपने वाले पिता मुलायम सिंह यादव ने उसी बेटे अखिलेश यादव को छह साल के लिए पार्टी से ही निकाल दिया.

अखिलेश यादव मीटिंग के लिए पहुंच गए हैं, जहां किसी को मोबाइल ले जाने की इजाजत नहीं दी गई है. सीएम आवास पर चल रही इस बैठक में शामिल विधायकों से हस्ताक्षर लिए जा रहे हैं. इस बैठक के लिए अब तक 170 से ज्यादा विधायक पहुंच चुके हैं और यह संख्या अभी बढ़ने की उम्मीद है. इस बीच पार्टी प्रमुख मुलायम के बुलाए बैठक में शामिल होने शिवपाल यादव पार्टी दफ्तर पहुंचे है. शिवपाल के अलावा पार्टी दफ्तर पहुंचने वाले अहम चेहरों में कमाल यूसुफ, मधुकर जेटली, अशोक वाजपेयी, नारद राय और राजकिशोर सिंह शामिल हैं.

In this article