कोरिया ओपन टूर्नामेंट: दूसरे दौर में पहुंचीं पीवी सिंधु

भारत की शीर्ष महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने कोरिया ओपन टूर्नामेंट की अपनी पहली बाधा आसानी से पार करते हुए दूसरे दौर में जगह बना ली है. सिंधु के...

34 0
34 0

भारत की शीर्ष महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने कोरिया ओपन टूर्नामेंट की अपनी पहली बाधा आसानी से पार करते हुए दूसरे दौर में जगह बना ली है. सिंधु के अलावा पुरुष खिलाड़ी पी. कश्‍यप भी दूसरे दौर में पहुंच गए हैं.  विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाली सिंधु ने बुधवार को महिला एकल वर्ग के पहले दौर में 17वीं विश्व वरीयता प्राप्त चेउंग नगान यी को मात दी. दुनिया में चौथा वरीयता प्राप्‍त सिंधु ने हांगकांग की चेउंग को सीधे गेमों में 21-13, 21-8 से मात दी. दूसरे दौर में उनका मुकाबला थाईलैंड की नितचाओन जिंदापोल से होगा. प्रणव जैरी चोपड़ा और एन.सिक्की रेड्डी की जोड़ी को मिश्रित युगल के पहले दौर में हार का सामना करना पड़ा है.

उधर, समीर वर्मा ने भी प्री-क्वार्टर फाइनल में स्थान बना लिया है. वर्ल्ड नंबर-26 समीर ने वर्ल्ड नंबर-13 थाइलैंड के टैनॉन्गसाक साइन्मसोबूनसुक को 21-13, 21-23, 21-9 से हराया. टूर्नामेंट के पुरुष वर्ग में भारत की ओर से के श्रीकांत, बी साई प्रणीत, एचएस प्रणॉय और सौरव वर्मा भी खेल रहे हैं.

क्‍वालिफाइंग राउंड में उन्‍होंने अपने पहले मैच में चीनी ताइपे के लिन यु सिन को 35 मिनट में 21-19, 21-19 से मात दी थी वहीं दूसरे मैच में उन्होंने चीनी ताइपे के ही कान चाओ यु को 21-19, 21-18 से पराजित करते हुए मुख्य दौर में जगह बनाई.  कश्यप के अलावा मिश्रित युगल में अश्विनी पोनप्पा और सातविकसाईराज रंकीरेड्डी की जोड़ी ने भी दोनों राउंड में विजय प्राप्त करते हुए मुख्य दौर में जगह बनाई है.

उनके अलावा सात्विकसाईराज रैंकी रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी भी मुख्य दौर में पहुंचने में सफल रही. दूसरे मैच में अश्विनी और सात्विक की जोड़ी ने इंडोनेशिया के रोनाल्ड रोनाल्ड और अनिशा सौफिका की जोड़ी को कड़े मुकाबले में 27-25, 21-17 से मात देते हुए मुख्य दौर में प्रवेश किया. यह मैच 37 मिनट तक चला. मुख्य दौर में यह जोड़ी हांक कांग की चुन मान और यिंग सुएट की जोड़ी से भिड़ेगी. प्रणव और सिक्की की जोड़ी को इंडोनेशिया की प्रवीण जोर्डन और डेब्बी सुसांटो की जोड़ी से 48 मिनट तक चले मैच में 21-13, 19-21, 15-21 से हार का सामना करना पड़ा.

 

In this article