जाधव मामले में ICJ में आज सुनवाई, भारत कोर्ट में दाखिल करेगा निवेदन पत्र

भारत आज अंतराष्ट्रीय न्यायालय हेग में पाकिस्तान में मौत की सजा पाए रिटायर्ड नौसेना अधिकारी कमांडर कुलभूषण जाधव के मामले में एक मेमोरियल यानी निवेदन-पत्र दाखिल करेगा. इस मेमोरियल में...

33 0
33 0
kulbhushan-jadhav

भारत आज अंतराष्ट्रीय न्यायालय हेग में पाकिस्तान में मौत की सजा पाए रिटायर्ड नौसेना अधिकारी कमांडर कुलभूषण जाधव के मामले में एक मेमोरियल यानी निवेदन-पत्र दाखिल करेगा. इस मेमोरियल में भारत कुलभूषण मामले में पाकिस्तान के हर झूठ को एक-एक कर बेनकाब करेगा. भारत की ओर से कहा जाएगा कि किस तरह पाकिस्तान ने कुलभूषण मामले में अंतरराष्ट्रीय नियम कायदों की धज्जियां उड़ाई हैं.

भाजपा नेता एस प्रकाश ने उम्‍मीद जताते हुए कहा कि सरकार जाधव को भारत लाने में सफल रहेगी। उन्‍होंने कहा, भारत हर कोशिश करेगा कि जाधव को पाकिस्‍तान की अवैध कैद से रिहा कराया जाए। उन्‍हें बिना किसी सुनवाई और अपना विचार रखने का मौका दिए बिना पाकिस्‍तान की अदालत द्वारा मौत की सजा सुना दी गई। हालांकि उनको रिहा कराने के भारतीय प्रयास से पाकिस्‍तान में न्‍यायिक प्रक्रिया जरूर लंबित हुई है और मुझे पूरा भरोसा है कि होने वाली सुनवाई में भारतीय सरकार जाधव को भारत लाने में सफल रहेगी।

अंतरराष्ट्रीय न्यायलय मे भारत एक बार फिर कुलभूषण मामले में राजनयिक एक्सेस दिए जाने की मांग करेगा और बताएगा कि कुलभूषण से मिलने की इजाज़त न देकर पाकिस्तान सरेआम विएना समझौते का उल्लंघन कर रहा है. भारत यह बात दोहराएगा कि पाकिस्तान ने एक सुनियोजित साज़िश के तहत कुलभूषण जाधव को ईरान से अगवा कराया है. पाकिस्तान की सेना के कोर्ट में सज़ा से पहले उसको कोई वकील भी मुहैया नहीं कराया गया और ना ही उसका पक्ष सही तरीके से सुना गया.

भाजपा नेता राहुल सिन्‍हा ने भी जाधव मामले में न्‍याय मिलने की उम्‍मीद जताई है। उन्‍होंने कहा, अदालत अपना फैसला लेगी। हमें उस पर कोई टिप्‍पणी नहीं करनी चाहिए। मामला अदालत में है और हम उम्‍मीद करते हैं कि हमें न्‍याय मिलेगा।

In this article