गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में 30 की मौत, अब मंत्री-नेताओं का लगेगा जमघट

गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से हुई 30 बच्चों की मौत पर अब राजनीति शुरू हो गई है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के कहने पर...

55 0
55 0

गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से हुई 30 बच्चों की मौत पर अब राजनीति शुरू हो गई है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के कहने पर चार कांग्रेसी नेता गोरखपुर का दौरा करेंगे. गुलाम नबी आजाद, राज बब्बर, संजय सिंह और प्रमोद तिवारी गोरखपुर जाएंगे. इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन भी गोरखपुर जाएंगे. थोड़ी देर में होंगे रवाना. सीएम के साथ दोनों मांत्रियों की बैठक हुई है. वहां से आने के बाद दोनों मंत्री सीएम को घटना की पूरी रिपोर्ट देंगे.

लेकिन बताया जा रहा है कि गुरुवार को ही हॉस्पिटल के सेंटर पाइप लाइन ऑपरेटर ने प्रिंसिपल, एसआईसी, एनेस्थिसिया डिपार्टमेंट के हेड और इंसेफेलाइटिस वार्ड के नोडल ऑफिसर को लिक्विड ऑक्सीजन का स्टॉक काफी कम होने की जानकारी दी थी। गुरुवार को सेंटर पाइप लाइन ऑपरेटर ने लिखित में ये जानकारी दी थी कि लिक्विड आक्सीजन की रीडिंग 900 है और अगर वक्त रहते आक्सीजन की सप्लाई नहीं हुई तो मरीजों की जान खतरे में पड़ जाएगी। लेकिन फिर भी कोई ऐक्शन नहीं हुआ और इतना बड़ा हादसा हो गया। आरोप ये भी है कि ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली एजेंसी के अस्पताल पर 69 लाख रुपये बकाया थे। एजेंसी ने पैसा नहीं मिलने पर ऑक्सीजन की सप्लाई बंद करने की चेतावनी दी थी फिर भी सरकार ये नहीं मान रही है कि ऑक्सीजन की कमी से अस्पताल में इतनी बड़ी घटना हुई है।

मामले को तूल पकड़ने के बाद सरकार की ओर से इस मामले पर सफाई आई है. जारी बयान में कहा गया है कि ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी रोगी की मौत नहीं हुई है. मेडिकल कॉलेज में भर्ती 7 मरीजों की विभिन्न चिकित्सीय कारणों से 11 अगस्त को मृत्यु हुई. घटना की मजिस्ट्रेटियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं. वहीं डीएम ने 5 सदस्यीय टीम गठिक की जो कि आज अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.

In this article