DUSU चुनाव: चार साल बाद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर NSUI का कब्जा, संयुक्त सचिव-सचिव पद ABVP को

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में कांग्रेस की स्टूडेंट इकाई NSUI को बड़ी कामयाबी मिली है. NSUI ने अध्यक्ष पद समेत तीन बड़े पदों पर कब्जा जमाया है. अध्यक्ष...

32 0
32 0

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में कांग्रेस की स्टूडेंट इकाई NSUI को बड़ी कामयाबी मिली है. NSUI ने अध्यक्ष पद समेत तीन बड़े पदों पर कब्जा जमाया है. अध्यक्ष पद की रेस में NSUI के रॉकी तुसीद ने ABVP के रजत चौधरी को हराया है. इसके अलावा  NSUI ने उपाध्यक्ष पद पर भी कब्जा किया है. वहीं ABVP ने ज्वाइंट सेकेट्ररी और सेकेट्ररी पद पर कब्जा किया है.

पिछले चार साल से अध्यक्ष पद पर एबीवीपी का कब्जा था. अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के उम्मीदवार रॉकी तूसीद ने जीत हासिल की है. रॉकी ने एबीवीपी के रजत चौधरी को हराया है. बता दें कि वोटों की गिनती सुबह 8 बजे कम्यूनिटी हॉल, पुलिस लाइन्स, किंग्सवे कैम्प में हो  रही थी.

वोटों की गिनती में काफी नाटकीय मोड़ आया, पहले खबर आई कि तीन बड़े पदों पर NSUI का कब्जा है. लेकिन बाद में यह साफ हुआ कि दो पदों पर NSUI और दो पदों पर ABVP की जीत हुई है. गिनती के दौरान कड़ा मुकाबला रहा. शुरुआती राउंड में ABVP ने चारों पदों पर बढ़त बनाई हुई थी, तो बाद में NSUI ने बढ़त बनाई. पिछले साल एबीवीपी ने डूसू के सेंट्रल पैनल में 4 में से 3 सीटों पर कब्ज़ा जमाया था. पिछले 4 साल से एबीवीपी डूसू पर काबिज़ है.

इस जीत के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने बीजेपी को निशाने पर लिया है. उन्होंने अपने ट्वीट मेे लिखा है, ”बोल कि लब आज़ाद हैं तेरे! एनएसयूआई की शानदार जीत, बीजेपी और एबीवीपी को बड़ा झटका.” उन्होंने यह भी कहा, ”राष्ट्रवाद के नाम पर गुंडागर्दी को खारिज किया गया है.”

चुनाव में डीयू के छात्रों ने बढ़ चढ़कर मतदान किया. पिछले साल जहां डूसू चुनाव में 36.9 फीसद वोट पड़े थे, तो वहीं इस साल मॉर्निंग कॉलेज के 32 कॉलेजों में ही कुल 44 फीसद वोट डाले गए. चुनाव समिति के मुताबिक मॉर्निंग कॉलेज के 77,379 छात्र-छात्राओं में से 34,051 छात्र-छात्राओं ने चुनाव में मतदान किया. मॉर्निंग कॉलेजों में मतदान की शुरुआत थोड़ी धीमी रही. हालांकि 11 बजे के बाद मतदान करने वाले छात्रों की भीड़ कैंपस में नज़र आयी.

In this article