तमिलनाडु में तबाही मचाने के बाद अब साइक्लोन वरदा की कर्नाटक में दस्तक

बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव वाले क्षेत्र के कारण बना चक्रवाती तूफान ‘वरदा’ से मरने वाले लोगों की संख्या 10 तक पहुंच गई है। एनडीएम के...

التداول بالفوركس बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव वाले क्षेत्र के कारण बना चक्रवाती तूफान ‘वरदा’ से मरने वाले लोगों की संख्या 10 तक पहुंच गई है। एनडीएम के मुताबिक, चेन्नई में 4, कांचीपुरम में 2, तिरूवल्लूर में 2, विल्लुपुरम और नागपट्टिनम में एक-एक शख्स की मौत हुई है। फिलहाल सेना और एनडीआरएफ की टीमें राहत व बचाव कार्य में जुटी हुई हैं।एनडीआरएफ के डीजी आरके पचनंदा का कहना है कि अधिकारियों द्वारा स्थिति पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि स्थिति को बहाल करने के लिए तेजी से काम किया जा रहा है।

click

ثنائي الخيار تجريب भारतीय मौसम विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक एम. महापात्र के मुताबिक तूफान का केंद्र चेन्नै से 20 किलोमीटर की दूरी पर रहा। चेन्नै के नजदीक हवा की स्पीड 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा रही। तूफान दो से पांच बजे की बीच चेन्नै से गुजरा। एहतियात के तौर पर कई इलाकों की बिजली आपूर्ति रोक दी गई थी। उत्तर चेन्नै, तिरुवल्लुर जिले के पझावेरकादु और कांचीपुरम के ममल्लापुरम के गांवों से करीब आठ हजार लोगों को 95 राहत शिविरों में सुरक्षित तरीके से पहुंचा दिया गया था। एयरपोर्ट पर विमानों के परिचालन को शाम पांच बजे तक स्थगित कर दिया गया था। लंबी दूरी की बसों को रोक दिया गया था। ज्यादातर इलाकों में पेड़ों के उखडने और सड़कों पर बिजली के खंभे गिरने के कारण यातायात बाधित रहा। वहीं चेन्नै की सभी रेल सेवाओं को रोक दिया गया। दक्षिण रेलवे ने बताया कि बेंगलुरु, हैदराबाद, मदुरै, कोयम्बटूर सहित विभिन्न स्थानों को जाने वाली ट्रेनों को रद्द कर दिया गया।

enter site
In this article