धांधली की शिकायतों पर सीएम योगी ने 46 मदरसों का अनुदान रोका

सीएम योगी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए प्रदेश के 46 मदरसों पर सरकारी मदद पर रोक लगा दी है। शासन की जांच रिपोर्ट में मानक के अनुरूप मदरसों...

74 0

http://i3group.com.au/?klykva=%D8%A7%D8%B3%D8%AA%D8%B1%D8%A7%D8%AA%D9%8A%D8%AC%D9%8A%D8%A9-%D8%A7%D9%84%D8%AE%D9%8A%D8%A7%D8%B1%D8%A7%D8%AA-%D8%A7%D9%84%D8%AB%D9%86%D8%A7%D8%A6%D9%8A%D8%A9-%D8%A7%D9%84%D9%85%D9%85%D9%84%D9%83%D8%A9-%D8%A7%D9%84%D9%85%D8%AA%D8%AD%D8%AF%D8%A9&5c4=fc सीएम योगी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए प्रदेश के 46 मदरसों पर सरकारी मदद पर रोक लगा दी है। शासन की जांच रिपोर्ट में मानक के अनुरूप मदरसों में कमी पाई गई है। इसकी जांच जिलों के डीएम, डीआईओएस व अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने जांच की है। इस जांच के करीब दो महीने बाद तथ्य सामने आए हैं। बताया जा रहा है कि ये सभी 46 मदरसे भवन मानकों पर सही नहीं है।

http://c-pages.co.uk/?komis=%D8%AD%D8%B3%D8%A7%D8%A8-%D8%AA%D8%AC%D8%B1%D9%8A%D8%A8%D9%8A-%D9%84%D8%AA%D8%AF%D8%A7%D9%88%D9%84-%D8%A7%D9%84%D8%B0%D9%87%D8%A8&fd2=0e

تداول اسهم معادن उत्तर प्रदेश 560 मदरसों को अनुदान राशि देती है. इस अनुदान राशि में शिक्षकों की सैलरी और रख रखाव का खर्च शामिल होता है. इस संबंध में मिली शिकायत के मुताबिक इन मदरसों में सैलरी तो कम दी जाती है, लेकिन हस्ताक्षर ज्यादा पर करवाया जाता है यानी रिकॉर्ड में जितनी सैलरी दी जाती है, उससे ज्यादा दिखाई जाती है.

http://www.greensteve.com/?armjanin=%D8%A7%D9%84%D8%AE%D9%8A%D8%A7%D8%B1%D8%A7%D8%AA-%D8%A7%D9%84%D8%AB%D9%86%D8%A7%D8%A6%D9%8A%D8%A9-%D9%8A%D9%86%D8%B8%D9%85-%D9%81%D9%8A%D9%86%D8%A7&01e=1d

تداول سوق الاسهم السعودي इससे पहले भी अखिलेश सरकार के समय तत्कालीन अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आजम खां ने विभागीय अफसरों द्वारा अनुदान के लिए भेजे जाने वाले 46 मदरसों की लिस्ट पर रोक लगा दी थी और उसके जांच के आदेश दिए थे। सरकार यूपी के 560 मदरसों को अनुदान देती है।

انظر في هذا

كسب المال من خلال الدفع مقابل النقرة इस पर यूपी सरकार के मंत्री बलदेव सिंह ओलख ने कहा था कि ये आदेश इसलिए दिया गया ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग जान सकें कि आखिरकार इस मदरसे का नाम क्या है? साथ ही ये भी लोग जान सकें कि यहां किस तरह की पढ़ाई होती है. मदरसों के खुलने और बंद होने का वक्त भी अब बोर्ड पर लिखना होगा.

رأي
In this article