पद्मनाभस्‍वामी मंदिर से जुड़े रीति-रिवाजों पर प्रधान पुजारी का फैसला अंतिम : HC

तिरुअनंतपुरम स्थित प्रसिद्ध श्रीपद्मनाभस्वामी मंदिर में अब महिलाएं सलवार-कमीज पहनकर नहीं जा सकेंगी। केरल हाईकोर्ट ने गुरुवार को इस आदेश की घोषणा कर स्पष्ट कर दिया कि मंदिर...

By
308 0

كيف تربح المال من المدونة तिरुअनंतपुरम स्थित प्रसिद्ध श्रीपद्मनाभस्वामी मंदिर में अब महिलाएं सलवार-कमीज पहनकर नहीं जा सकेंगी। केरल हाईकोर्ट ने गुरुवार को इस आदेश की घोषणा कर स्पष्ट कर दिया कि मंदिर के रीति रिवाजों के सम्मान में प्रधान पुजारी द्वारा लिया गया निर्णय अंतिम निर्णय होगा।

http://www.greensteve.com/?armjanin=%D8%AE%D9%8A%D8%A7%D8%B1-%D8%AB%D9%86%D8%A7%D8%A6%D9%8A-%D8%B9%D8%B1%D8%B6-%D8%A7%D9%84%D9%81%D9%8A%D8%AF%D9%8A%D9%88&e32=b4

follow site गत 29 नवंबर को परंपरा को तोड़ते हुए महिला श्रद्धालुओं को ड्रेस कोड में छूट देने की घोषणा की गई थी, जिसके अनुसार महिलाएं सलवार-कमीज और चूड़ीदार पायजामा पहनकर भी मंदिर में पूजापाठ कर सकती हैं। ऐसा कर सतीश ने मंदिर के चेयरमैन, के. हरिपाल के आदेश का विरोध किया था। कोर्ट के इस आदेश से यह स्पष्ट हो गया कि मंदिर के कार्यकारी अधिकारी केएन सतीश को मंदिर से जुड़ी परंपरा में बदलाव करने का कोई हक नहीं है।

هل تم تداول اسهم اسمنت ام القرى

سعر الذهب خلال شهر तिरुअनंतपुरम के इस मंदिर में परंपरा के अनुसार, चाहे महिला श्रद्धालुओं ने सलवार या चूड़ीदार क्यों न पहन रखा हो, उन्हें अपने कमर में मुंडु (धोती) बांधनी ही होगी।

http://www.tyromar.at/?yuwlja=%D8%A3%D8%B3%D9%87%D9%85-%D8%A7%D9%84%D8%A3%D9%87%D9%84%D9%8A&a38=48 أسهم الأهلي
In this article