नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट नहीं रख पाई कांग्रेस, बैठक आज

नोटबंदी पर सरकार को घेरने के लिए आज दोपहर कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष की महत्वपूर्ण बैठक और संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस है. इस बैठक के सिलसिले में बंगाल...

215 0
215 0

नोटबंदी पर सरकार को घेरने के लिए आज दोपहर कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष की महत्वपूर्ण बैठक और संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस है. इस बैठक के सिलसिले में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सोमवार को ही दिल्ली पहुंच गई हैं. लेकिन इस बार कांग्रेस सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने में नाकाम रही है और बड़े नेताओं में सिर्फ ममता और लालू प्रसाद यादव के ही इस संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में रहने की संभावना है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हालात सामान्य करने के लिए जनता से 50 दिन का समय मांगा था और वह पचास दिन अब पूरे होने वाले हैं. इसे देखते हुए 27 दिसंबर यानी आज विपक्षी दलों ने एक होकर आगे की रणनीति पर विचार करने का फैसला किया था, लेकिन इस बार विपक्ष में वैसी एकजुटता नहीं दिख रही. 16 विपक्षी दलों की मीटिंग से पहले ही इसमें फूट की खबरें आ गईं. वाम दलों के इसमें शामिल होने की संभावना नहीं है. सिर्फ वाम दल ही नहीं जेडीयू के भी इसमें शामिल होने की संभावना अब न के बराबर है. जेडीयू ने बैठक से पहले न्यूनतम साझा कार्यक्रम की मांग की. सीताराम येचुरी ने कहा कि वह कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों की मंगलवार को होने वाली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल नहीं होंगे. सीताराम येचुरी ने कहा था कि सभी 16 विपक्षी दल बैठक में नहीं होंगे. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को बुलाया गया है तो असम, त्रिपुरा और अन्य विपक्षी राज्यों के मुख्यमंत्री क्यों नहीं ? योजना ठीक से नहीं बनाई गई है. इस तरह अभी कांग्रेस को सिर्फ टीएमसी, राजद और जेडीएस का ही साथ मिल पाया है. कांग्रेस को अब नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार को घेरने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ेगी.

In this article