क्या 6 जनवरी के बाद नहीं चलेगा आपका जियो फ्री ऑफर

31 मार्च तक रिलायंस जियो का फ्री हैप्पी न्यू ईयर का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं के लिए जल्दी ही बुरी खबर आ सकती है. जियो को फ्री डाटा...

250 0
250 0

31 मार्च तक रिलायंस जियो का फ्री हैप्पी न्यू ईयर का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं के लिए जल्दी ही बुरी खबर आ सकती है. जियो को फ्री डाटा और फ्री कॉलिंग का ऑफर बंद करना पड़ सकता है क्योंकि भारती एयरटेल ने ट्राई के फ्री ऑफर को चालू रखने के डिसीजन के खिलाफ दूरसंचार विवाद न्यायाधिकरण टीडीएसएटी के समक्ष याचिका दायर की है जिसपर सुनवाई 6 जनवरी को होनी है.

एयरटेल ने आरोप भरे लहजे में कहा है कि दूरसंचार नियामक जियो के नियम उल्लंघन को लेकर मूक दर्शक बना हुआ है. एयरटेल ने यह याचिका ट्राई के उस डिसीजन के खिलाफ दायर की हैं जिसमें उसने जियो को 3 दिसंबर के बाद भी फ्री ऑफर चालू रखने की अनुमति प्रदान की है.

एयरटेल का पक्ष है कि ट्राई के शुल्क आदेश का मार्च 2016 से लगातार उल्लंघन किाय जा रहा है जिससे उसे नुकसान पहुंच रहा है. जियो के मुफ्त कॉल के कारण कॉल की संख्या अत्याधिक बढ गई है जिसका असर उसके नेटवर्क पर भी पड़ रहा है. अपनी याचिका में एयरटेल का कहना है कि फ्री सर्विस को चालू रखना ट्राई के निर्देशों, टैरिफ ऑर्डर और नियमन का साफ तौर पर उल्‍लंघन है.

ट्राई ने याचिका पर जवाब देते हुए कहा कि उसे निर्णय लेने के लिए और 10 दिनों की जरूरत है. टीडीएसएटी ने ट्राई को अगली सुनवाई के दिन इस संबंध में अपना निर्णय लेकर आने को कहा है. मामले की अगली सुनवाई 6 जनवरी 2017 को होनी है. 6 जनवरी को ही निर्णय लिया जाएगा कि फ्री ऑफर पर आगे का प्लान क्या होगा ?

यहां उल्लेख कर दें कि जियो ने सबसे पहले फ्री वॉयस और डाटा प्‍लान 4 सितंबर को तीन महीने के लिए लॉन्‍च किया था जिसके बाद से इसके ग्राहकों में लगातार इजाफा हो रहा है. बाद में दिसंबर की शुरुआत में इसकी अवधि बढ़ाकर 31 मार्च 2017 कर दी गई. इसके लिए रिलायंस ने दूसरा प्लान लॉन्च किया जिसे हैप्पी न्यू ईयर ऑफर नाम से नवाजा गया.

उस वक्त ऐसा कहा गया था कि ट्राई के नियम के अनुसार कोई भी कंपनी प्रमोशन ऑफर को 90 दिन से ज्यादा नहीं चला सकती है. फिलहाल उपभोक्ता वेलकम ऑफर का ही मजा ले रहे हैं. 1 जनवरी को जियो का वेलकम ऑफर हैप्पी न्यूर ईयर से मर्ज कर दिया जाएगा जिसके बाद फ्री सर्विसेस जारी रहेगी.

अब सबकी नजरें 6 जनवरी पर टिकी हुई है. इस दिन रिलायंस अपना पक्ष रखेगी जबकि एयरटेल अपना. यहां देखने वाली बात है कि ट्राई क्या फैसला सुनाती ?

In this article