अंडमान के द्वीपों से सुरक्षित निकाले गए सभी पर्यटक

चक्रवाती तूफान जैसे मौसम के कारण अंडमान के दो द्वीपों हेवलॉक और नील में सोमवार से फंसे सभी पर्यटकों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। भारी बारिश की...

235 0
235 0

चक्रवाती तूफान जैसे मौसम के कारण अंडमान के दो द्वीपों हेवलॉक और नील में सोमवार से फंसे सभी पर्यटकों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। भारी बारिश की वजह से पांच दिसंबर से हैवलॉक द्वीप पर 2376 पर्यटक फंसे हुए थे, जिनमें विदेशी पर्यटक भी शामिल थे। इन पर्यटकों को पोर्ट ब्लेयर लाया गया है, जहां से उन्हें उनकी उड़ान के समय के मुताबिक उनके घर भेजा जा रहा है।

साथ ही उनके ठहरने की भी समुचित व्यवस्था की गई है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार सुबह जैसे ही मौसम साफ हुआ तो नौसेना, तटरक्षक बल, वायु सेना और केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन ने संयुक्त बचाव अभियान शुरू किया। सात जहाजों और छह हेलीकॉप्टरों के जरिये अधिकांश पर्यटकों को इन द्वीपों से निकालकर पोर्ट ब्लेयर लाया जा चुका है। बचे हुए पर्यटकों को भी वहां से निकालने का काम जारी है।

बचाव कार्य में लगाए गए छह हेलीकॉप्टरों में तीन वायु सेना के एमआइ-17वी-5 परिवहन हेलीकॉप्टर और तीन केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन के पवन हंस हेलीकॉप्टर थे। जबकि सातों जहाज नौसेना के थे। अंडमान-निकोबार के उप-राज्यपाल जगदीश मुखी ने बताया कि तूफानी मौसम की वजह से जान-माल की कोई हानि नहीं हुई है।बता दें कि पोर्ट ब्लेयर से 40 किलोमीटर दूर स्थित हेवलॉक और नील अंडमान के दो लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण हैं।

सोमवार से जारी मूसलाधार बारिश और तेज हवा के कारण समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरें भी उठ रही थीं। इस वजह से न तो कोई हेलीकॉप्टर उड़ान भर पा रहा था और न ही कोई जहाज इन द्वीपों पर पहुंच पा रहा था। इस बीच, मौसम विभाग ने पोर्ट ब्लेयर से 250 किलोमीटर पश्चिम उत्तर पश्चिम में सक्रिय चक्रवाती तूफान ‘वर्धा’ के और तेज होने की आशंका भी व्यक्त की है।

In this article